Activity No. 35

Activity 35
📚आजके प्रश्न📚 क्र589
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
(1)– पाचवी प्रतिमा
उत्तर –
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(2)– पाचवा गुणस्थान
उत्तर -.
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(3)– पाचवा शरीर
उत्तर –
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(4)– सम्यक दर्शनका पाचवा अंग
उत्तर-.
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(5)– षोडशकारणकी पाचवी भावना
उत्तर -.
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(6)– पाचवा मेरू
उत्तर -.
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(7)– जंबूद्वीप का पाचवा तालाब
उत्तर –
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(8)– जंबूद्वीप का पाचवा क्षेत्र
उत्तर –
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(9)– स्वाध्याय का पाचवा भेद
उत्तर -.
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(10)– चारित्र का पाचवा भेद
उत्तर –
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(11)– पाचवी लेश्या
उत्तर –
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(12)– पर्याप्ति पाचवी
उत्तर –
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(13)– पाचवा संहनन
उत्तर -.
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
प्रश्नों के उत्तर सभी देने का प्रयास करे
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
ब्र०सुनील भैया इंदौर
☎09425963722☎
09425063722
📚आजके प्रश्न📚 क्र589
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
(1)– पाचवी प्रतिमा
उत्तर – सचित त्याग प्रतिमा
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(2)– पाचवा गुणस्थान
उत्तर -. देशविरत गुणस्थान
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(3)– पाचवा शरीर
उत्तर – कार्मण शरीर
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(4)– सम्यक दर्शनका पाचवा अंग
उत्तर-. उपगूहन अंग
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(5)– षोडशकारणकी पाचवी भावना
उत्तर -. अभीक्ष्ण संवेग भावना
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(6)– पाचवा मेरू
उत्तर -. विधुन्माली मेरू
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(7)– जंबूद्वीप का पाचवा तालाब
उत्तर – महापुण्डरीक तालाब
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(8)– जंबूद्वीप का पाचवा क्षेत्र
उत्तर – रम्यक क्षेत्र
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(9)– स्वाध्याय का पाचवा भेद
उत्तर -. धर्मोपदेश
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(10)– चारित्र का पाचवा भेद
उत्तर – यथाख्यात चारित्र
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(11)– पाचवी लेश्या
उत्तर – पद्म लेश्या
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(12)– पर्याप्ति पाचवी
उत्तर – भाषा पर्याप्ति
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
(13)– पाचवा संहनन
उत्तर -. कीलक संहनन
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
प्रश्नों के उत्तर सभी देने का प्रयास करे
🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆🏆
ब्र०सुनील भैया इंदौर
☎09425963722☎
09425063722

Activity No. 34

Activity 34

आज के प्रश्न क्र 586
👰सभी उत्तर अंको मे ही
देना है👰

१ सुषमा काल मे मनुष्यो की ऊंचाई कितनी धनुष होती है
उत्तर –
👼👼👼👼👼👼👼
२ गणधर कितने ऋद्धि धारी होते है
उत्तर –
👼👼👼👼👼👼👼👼
३ भरत चक्रवर्ती ने कैलाश पर्वतपर कितने मंदिरो का निर्वाण कराया था
उत्तर –
👧👧👧👧👧👧👧👧
४ तत्वार्थ सूत्र मे कुल कितने सूत्र है
उत्तर –
👸👸👸👸👸👸👸👸
५ पं टोडरमल जी की कितने
वर्ष की अल्प आयु मे हाथी
के पांव तले मृत्युहुई थी
उत्तर –
👩👩👩👩👩👩👩👩
६ महाव्रतों की स्थिरता के लिये कितनी भावनाऐ होती है
उत्तर –
👧👧👧👧👧👧👧👧
७ जम्बूद्वीप में कांचनगिरि
पर्वत कितने है
उत्तर –
👩👩👩👩👩👩👩👩
८ तिर्यच गति की कुल कितनी योनियां है
उत्तर –
👸👸👸👸👸👸👸👸
९ वर्तमान अवसर्पिणी के चतुर्थ काल मे कितने महापुरुष थे
उत्तर –
👧👧👧👧👧👧👧
१० संयत जीवो की कुल संख्या कितनी है
उत्तर –
👲👲👲👲👲👲👲
११ भरतक्षेत्र के एक कल्पकाल में कुल कितने तीर्थकंर होते है
उत्तर –
👩👩👩👩👩👩👩👩
१२ एक मुनि के एक समय मे अधिक से अधिक कितने
परिषह होते है
उत्तर –
👲👲👲👲👲👲👲👲
१३ दुषमा दुषमा काल कितने वर्षो पश्चात शुरू होगा
उत्तर –
👧👧👧👧👧👧👧👧
ब्र. सुनील भैया इंदोर
09425963722

आज के उत्तर क्र 586
👰सभी उत्तर अंको मे ही
देना है👰

१ सुषमा काल मे मनुष्यो की ऊंचाई कितनी धनुष होती है
उत्तर – 4000 धनुष
👼👼👼👼👼👼👼
२ गणधर कितने ऋद्धि धारी होते है
उत्तर – 63 ऋद्धि
👼👼👼👼👼👼👼👼
३ भरत चक्रवर्ती ने कैलाश पर्वतपर कितने मंदिरो का निर्वाण कराया था
उत्तर – 72 जिनालय
👧👧👧👧👧👧👧👧
४ तत्वार्थ सूत्र मे कुल कितने सूत्र है
उत्तर – 357 सूत्र
👸👸👸👸👸👸👸👸
५ पं टोडरमल जी की कितने
वर्ष की अल्प आयु मे हाथी
के पांव तले मृत्युहुई थी
उत्तर – 47 वर्ष
👩👩👩👩👩👩👩👩
६ महाव्रतों की स्थिरता के लिये कितनी भावनाऐ होती है
उत्तर – 25 भावनाऐं
👧👧👧👧👧👧👧👧
७ जम्बूद्वीप में कांचनगिरि
पर्वत कितने है
उत्तर – 200
👩👩👩👩👩👩👩👩
८ तिर्यच गति की कुल कितनी योनियां है
उत्तर – 6200000
👸👸👸👸👸👸👸👸
९ वर्तमान अवसर्पिणी के चतुर्थ काल मे कितने महापुरुष थे
उत्तर – 161
👧👧👧👧👧👧👧
१० संयत जीवो की कुल संख्या कितनी है
उत्तर – 89999997
👲👲👲👲👲👲👲
११ भरतक्षेत्र के एक कल्पकाल में कुल कितने तीर्थकंर होते है
उत्तर – 48 तीर्थकंर
👩👩👩👩👩👩👩👩
१२ एक मुनि के एक समय मे अधिक से अधिक कितने
परिषह होते है
उत्तर – 19 परिषह
👲👲👲👲👲👲👲👲
१३ दुषमा दुषमा काल कितने वर्षो पश्चात शुरू होगा
उत्तर – 18457
👧👧👧👧👧👧👧👧
ब्र. सुनील भैया इंदोर
09425963722
09425063722

Activity No. 33

Activity 33
📛आज के प्रश्न📛क्र582
आज के प्रश्न
~~~~~~~~~~~~~~~
(1) भक्तामर के रचियता
💰💰💰💰💰💰💰💰💰
उत्तर-
📚📚📚📚📚📚📚📚📚
(2) तत्वार्थसूत्र के रचियता
उत्तर-
🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒
(3) रत्नकरंड स्रावकाचार के रचियता
उत्तर-
💰💰💰💰💰💰💰💰💰
(4) पुरषार्थ सिद्धि उपाय के राचीयता
उत्तर-
🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒
(5) जीवकांड के रचियता
उत्तर-
💰💰💰💰💰💰💰💰💰
(6) लब्धिसार क्षपणा सार के लेखक
उत्तर-
🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒
(7) सागर धर्मामृत के रचियता
उत्तर-
💰💰💰💰💰💰💰💰💰
(8) सर्बार्थसिद्धि के रचियता
उत्तर-
🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒
(9) श्लोक बार्तिक के रचियता
उत्तर-
💰💰💰💰💰💰💰💰💰
(10) परीक्षा मुख के रचियता
उत्तर-
🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒
(11) समयसार के रचियता
उत्तर-
💰💰💰💰💰💰💰💰💰
(12) न्याय दीपिका के रचियता
उत्तर –
🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒🎒
(13) देवागम स्तोत्र के रचियता
उत्तर –
💰💰💰💰💰💰💰💰💰

ब्र. सुनील भैया इंदौर
☎09425963722☎
09425063722
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
सभी प्रश्नो के उत्तर शाम तक
सभी को देना हे
जय जिनेन्द्र
———————————————-
😉: 🎒 आज के उत्तर🎒क्र578
सभी उत्तर द शब्द से देना
🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈
(1) आचार्य के पंचाचार में एक का नाम
उत्तर – दर्शनाचार
💚💚💚💚💚💚💚💚💚
(2) तीर्थंकर का देवकृत अतिशय
उत्तर – दिशाओं का निर्मल होना
🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈
(3) जिनको पति ने जुए में दाव लगाया और हार गए
उत्तर – द्रौपदी
💚💚💚🎏🎏💚💚💚🎏
(4)चन्द्रगुप्त मुनिराज को जंगल में आहार किसने दिया
उत्तर – देवताओं ने
🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈
(5)अनंत दर्शन गुण प्रगट कोन से कर्म नाश से होता
उत्तर – दर्शनावरणीय
💚💚💚💚💚💚💚💚💚
(6) दही के साथ दाल खाना कहलाता
उत्तर – द्विदल
🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈
(7) नेमिनाथ तीर्थंकर की आयु
उत्तर – दस सौ वर्ष
💚💚💚💚💚💚💚💚💚
(8) दिनदुखियो को दया करके दान देना
उत्तर – दयादत्ति दान
🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈
(9)सिद्धवरकूट से मुनिराज कामकुमार मोक्ष गए
उत्तर- दश कामदेव दो चक्रवर्ती
💚💚💚💚💚💚💚💚💚
(10) तीर्थंकरो के जन्म के 10 आतिशयो में एक
उत्तर – दूध के समान सफेद रक्त
🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈
(11) एक बुद्धि ऋद्धि का भेद
उत्तर – दूरास्वादन , दूरदर्शन , दूरस्पर्श
💚💚💚💚💚💚💚💚💚
(12) नेमिचन्द्र सिद्धात चक्रवती द्वारा रचित एक शाष्त्र
उत्तर – द्रव्य संग्रह
🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈
(13) भावनाये होती हे
उत्तर – द्वादश
💚💚💚💚💚💚💚💚💚
( ब्र. सुनील भैया इंदौर
☎09425963722☎
09425063722

Activity No. 32

Activity 32
आज की एक्टिविटी का नाम है – *प्रथमानुयोग का ज्ञान*
इस एक्टिविटी में आपको हमारे महापुरुषों , आचार्यों और पंडितो के जीवन से जुड़ी कोई एक प्रचलित बात बताई जाएगी आपको उनके नाम बताने हैं ।
तो आज के प्रश्न इसप्रकार है …….

1 वे कौन थे जिन्हें भस्म व्याधि का रोग हुआ था ?

2 वे कौन थे जो प्रभावना अंग में प्रसिद्ध हुए ?

3 वे कौन थे जिनके गले मे मरा हुआ सर्प डाला गया था?

4वे कौन थे जिनको कोढ़ था । उसे उन्होंने स्वयं दूर किया?

5 वे कौन थे जिन्होंने सात सौ मुनि का उपसर्ग दूर किया ?

6 वे कौन थे जिनका उपसर्ग राम लक्ष्मण ने दूर किया ?

7 वे कौन थे जिन्होंने प्रथम मोक्ष द्वार खोला?

8वे कौन थे जिनको मुनिदीक्षा लेने के अन्तर्मुहूर्त में केवल ज्ञान प्राप्त हुआ??

9 वे कौन थे जो सिथतिकरन अंग में प्रसिद्ध हुए??

10 वे कौन थे जो वात्सल्य अंग में प्रसिद्ध हुए??

11 वे कौन थे जिन पर प्रतिन्द्र ने उपसर्ग किया था ?

12 वे कौन थे जिनको लोहे के गर्म कड़े पहनाय गए थे?

13 वे कौन थे जिनके सिर पर जलती सिगड़ी रखी गयी थी?

14 वे कौन थे जिनको 48 तालो में बंद किया गया था?

15 वे कौन थे जिन्होंने एक वर्ष तक खड़े हो कर तप किया?

16वे कौन थे जिन्हें अपनी कानी पत्नी का 12 वर्ष तक ध्यान रहा?

17 वे कौन थे जिन्होंने अपने पिता को नगर द्वार के ऊपर कैद करके रखा था?

18 वे कौन थे जिनको तीन दिन तक श्यालनी खाती रही?

19 वे कौन थे जो विदेह क्षेत्र गए थे ?

20 वे कौन थे जिनको देवता ने नगर बसा कर आहार दिया था ?

उत्तर
1 वे कौन थे जिन्हें भस्म व्याधि का रोग हुआ था ?

उत्तर-आचार्य समन्तभद्र

2 वे कौन थे जो प्रभावना अंग में प्रसिद्ध हुए ?

उत्तर- वज्रकुमार

3 वे कौन थे जिनके गले मे मरा हुआ सर्प डाला गया था?

उत्तर- यशोधर मुनिराज

4वे कौन थे जिनको कोढ़ था । उसे उन्होंने स्वयं दूर किया?

उत्तर-वादीमुनि

5 वे कौन थे जिन्होंने सात सौ मुनि का उपसर्ग दूर किया ?

उत्तर- विष्णुकुमार

6 वे कौन थे जिनका उपसर्ग राम लक्ष्मण ने दूर किया ?

उत्तर- देशभूषण, कुलभूषण मुनि

7 वे कौन थे जिन्होंने प्रथम मोक्ष द्वार खोला?

उत्तर-अनन्तवीर्य

8वे कौन थे जिनको मुनिदीक्षा लेने के अन्तर्मुहूर्त में केवल ज्ञान प्राप्त हुआ??

उत्तर-भरत चक्रवर्ती

9 वे कौन थे जो सिथतिकरन अंग में प्रसिद्ध हुए??

उत्तर- वारिषेण मुनिराज

10 वे कौन थे जो वात्सल्य अंग में प्रसिद्ध हुए??

उत्तर- विष्णुकुमार

11 वे कौन थे जिन पर प्रतिन्द्र ने उपसर्ग किया था ?

उत्तर- राम मुनि

12 वे कौन थे जिनको लोहे के गर्म कड़े पहनाय गए थे?

उत्तर- पांच पांडव

13 वे कौन थे जिनके सिर पर जलती सिगड़ी रखी गयी थी?

उत्तर- गजकुमार मुनि

14 वे कौन थे जिनको 48 तालो में बंद किया गया था?

उत्तर – आचार्य मांगतुंग

15 वे कौन थे जिन्होंने एक वर्ष तक खड़े हो कर तप किया?

उत्तर- बाहुबली

16वे कौन थे जिन्हें अपनी कानी पत्नी का 12 वर्ष तक ध्यान रहा?

उत्तर- पुष्पडाल मुनि

17 वे कौन थे जिन्होंने अपने पिता को नगर द्वार के ऊपर कैद करके रखा था?

उत्तर – राजा कंस

18 वे कौन थे जिनको तीन दिन तक श्यालनी खाती रही?

उत्तर- सुकुमार मुनि

19 वे कौन थे जो विदेह क्षेत्र गए थे ?

उत्तर- आचार्य कुन्दकुन्द

20 वे कौन थे जिनको देवता ने नगर बसा कर आहार दिया था ?

उत्तर- चंद्रगुप्त मुनिराज

Activity No. 31

Activity 31
आज की रोचक एक्टिविटी का नाम है – *विविध भेष वूसा प्रतियोगिता*
अनुमान है कि आप सभी इससे परिचित होंगें ।
आज की इस मनोरंजक प्रतियोगिता में आपको जिनागम अनुसार एक पत्र का चयन करना है और उस पत्र के जीवन से सबसे उत्तम और शिक्षाप्रद संवाद / वार्तालाप यहां प्रस्तुत करना है ।
जिसकी प्रस्तुति , चयन व संवाद सबसे अच्छा , सही (अगमानुकूल)और शिक्षाप्रद होगा वही विजेता होगा।
और विजेता का चुनाव ग्रुप के विज्ञ जन और बहुमत से होगा ।
तो विजेता की श्रेणी में अपना नाम दर्ज कराने के लिए उठाइये प्रथमानुयोग और प्रस्तुति के लिए हो जाइए तैयार …………….

Activity No. 30

Activity 30
आज की एक्टिविटी में सभी प्रश्नों के उत्तर तीसरी ढाल से देना है ।
आपके लिए प्रश्न इसप्रकार हैं
1. जो अजीव भी नही है और पुद्गल भी नही है वह कौन सा द्रव्य है ?
2. स्वयं चलते हुए जीव और पुद्गल को चलने में सहायक कौन सा द्रव्य है ?
3.धर्माराधना के फल में किसी भी प्रकार के सांसारिक सुख की इच्छा करना क्या कहलाता है ?
4. मैंने अमुक को ठहराया या स्थान दिया ऐसा मानने वाले ने किस द्रव्य को नही माना ?
5. सात तत्वों का श्रद्धान कौन सा सम्यक्त्व कहालात है ?
6. सच्चे सुख का लक्षण अर्थात् उसकी पहचान क्या है ?
7. ज्ञान ही है शरीर जिनका वे कौन कहलाते हैं ?
8. वह कौनसी ताकत है , जिससे कर्मों की विशेष निर्जरा होती है ?
9. मैंने अपने बालकों को पाल पोषकर बडा किया । ऐसा मानने वाले ने किस द्रव्य को नही माना ?
10. मिथ्यात्व , अविरति , प्रमाद , कषाय और योग किसके भेद हैं ?
11. वह कौन है – जिसके बिना ज्ञान और चरित्र सम्यक नही कहलाते ?
12. जो अस्तिकाय नही है – वह कौन है ?
13. आसमान में नीला नीला दिखाई देने वाला कौन सा द्रव्य है ?
14. जीव , संख्या अपेक्षा कितने हैं ?
15. क्रियावती शक्ति के धारक कितने द्रव्य नहीं हैं ?
16. शब्द किस द्रव्य की पर्याय है ?
17. आकाश के जितने भाग को एक पुद्गल परमाणु घेरता है , वह क्या कहलाता है ?
18. उपगूहन अंग का दूसरा नाम क्या है ?
19. आकाश द्रव्य कितने प्रदेशी है ?
20. कारण सो व्यवहारा – निमित्तकारण या उपदनकारण ?
21. स्वयं को मोटा पतला या गोरा काला मानने वाला कौन है ?
22. संख्या अपेक्षा काल द्रव्य कितने हैं ?
23. हवा (वायु) रूपी द्रव्य है या अरूपी ?
24. जो चिनमूरत भी नहीं , मूरत भी नही और कायवान । ऐसा कौन सा द्रव्य है ?
25. बुखार (उष्णता) किस द्रव्य के कौन से गुण की पर्याय है ?

Activity 30
उत्तर
1 जीव द्रव्य
2 धर्म द्रव्य
3 कांक्षा
4 अधर्म और आकाश द्रव्य
5 व्यवहार सम्यक्त्व
6 आकुलता बिन
7 सिद्ध परमात्मा
8 तप बल
9 पुद्गल द्रव्य
10 आस्रव के
11 सम्यकदर्शन
12 काल द्रव्य
13 पुद्गल
14 अनंत
15 4
16 पुद्गल
17 प्रदेश
18 उपवृहन
19 अनंत
20 निमित्तकारण
21 बहिरात्मा
22 प्रमाण असंख्यात
23 रूपी
24 धर्म अधर्म आकाश
25 पुद्गल द्रव्य के स्पर्श गुण की

Activity No 29

🏳‍🌈प्रभु🙏पतित पावन (दर्शन स्तुति) का अर्थ सहित🏳‍🌈

🌈
प्रभु पतित पावन में अपावन , चरण आयो शरण जी ।
यों विरद आप निहार स्वामी,मेट जामन मरण जी ॥1||
🏳‍🌈
👉अर्थ- हे प्रभु आप अपवित्र को पवित्र करने वाले हो,
मै आपकि चरण-शरण मे आया हु
आप अपनी किर्ती को निहारकर मेरी विनती को सुनकर व अपने दयालु स्वभाव को देखकर मेरे जन्म मरण को
नष्ट करो
🌈
तुम ना पिछान्या अन्य मान्या , देव विविध प्रकार जी ।
या बुध्दि सेती निज न जाण्यो , भ्रम गिन्यो हितकार जी ॥2||
🏳‍🌈
👉अर्थ;- हे भगवान मैने आज तक आपको पहचाना नही
अन्य रागी-व्देषी देवी देवताओ कि पुजा करता रहा
(मिथ्या देव देवता कि पुजा करना पाप है और संसार मे भ्रमण करने का यह भी एक कारण है)
🌈
भव विकंट वन मेँ कर्म बैरी,ज्ञान धन मेरो हरयो ।
तव इष्ट भुल्यो भ्रष्ट होय,
अनिष्ट गती धरतो फिरयो ॥3||
🏳‍🌈
👉अर्थ;- इस संसार रुपी जंगल (वन)में कर्म रुपी शत्रु ने मेरा ज्ञान रुपी धन चुरा लिया है
इस कारण मै इष्ट को भुलकर भ्रष्ट हुवा (सही मार्ग से हट गया ) चारो गती(मनुष्य तिर्यच नरक स्वर्ग) मे भ्रमण करता रहा
🌈
घन घडी यों धन दिवस यों ही , धन जन्म मेरो भयो ।
अब भाग मेरो उदय आयो ,दरश प्रभुजी को लख लियो ॥4||
🏳‍🌈
👉अर्थ ;-धन्य है आज का यह समय , धन्य है आज का यह दिन ,
आज मेरा जन्म धन्य हो गया , सफल हो गया ।
आज मेरे भाग्य का उदय हुआ जो मुझे आपका दर्शन मिला
🌈
छवि वितरागी नग्न मुद्रा , द्रुष्टि नासा पे धरैं ।
वसु प्रातिहार्य अनंत गुण जुत , कोटि रवि छवि को हरैं ॥5||
🏳‍🌈
👉अर्थ;- हे प्रभु आपकि छवि वितरागी है , आपकि मुद्रा नग्न है , आपकी नजर नासाग्रा है
आप आठ प्रातिहार्य और अनंत गुणों से युक्त है जो कि करोडों सुर्यो से भी तेजस्वी है
🌈
मिट गयो तिमिर मिथ्यात्व मेरो , उदय रवि आत्म भयो ।
मो उर हर्ष ऐसो भयो , मणु रंक चिंतामणि लयो ॥6||
🏳‍🌈
👉अर्थ:- हे भगवान आपके दर्शन से मेरा मिथ्यात्व रुपी अंधकार नष्ट हुवा और सम्यक्त्व रुपी सुर्य का आत्मा मे उदय हुवा
आपके दर्शन को पाकर मेरे ह्रदय मे इतना हर्ष हुवा कि मानो किसी निर्धन को चिंतामणी रत्न कि प्राप्ती हुई हो
🌈
मै हाथ जोड नवाऊ मस्तक,
विनऊ तव चरण जी ।
सर्वोत्क्रुष्ट त्रिलोकपती जिन, सुनहु तारन तरन जी॥7||
🏳‍🌈
👉अर्थ – हे प्रभु मै दोनो हाथों को जोडकर मस्तक झुकाकर विनय से आपके चरणों मे नमस्कार करता हुँ
हे भगवान आप सब से उत्तम वितरागी हो
तीन लोक के नाथ हो , तारने वाले तारणहार हो मेरी विनंती सुनो
🌈
जाचुँ नही सुरवास पुनिं,नर राज परिजन साथ जी ।
बुध जाचहुँ तव भक्ति , भव भव दिजिए शिवनाथ जी ॥8||
🏳‍🌈
👉अर्थ-हे भगवान मै आपके दर्शन का फल स्वर्ग सुख ,मनुष्य मे माता पिता परिवार धन कुछ भी नही चाहता
बुधजन कहते है कि मै तो भव भव मे आपकी भक्ती चाहता हु

🌈🌈🌈🏳‍🌈🌈🌈🌈

Activity No 28

Question : Pathshala ke letters mai har letter ka kya dharmik word ban sakta hai?

Answer :

P-. Prashast
A. Aagam
T. Tatva
H. Harshit
S. Shashwat
H. Hitoupdeshi
A. Adhyatam
L. Lok
A. Aatma

 

Activity No. 28

G.S.T. के अध्यात्मिक अर्थ

1) G. = गोम्मटसार
S. = समयसार
T. = त्रिलोकसार

2) G. = गंधहस्ति महाभाष्य
S. = सर्वार्थसिद्धि
T. = तत्त्वार्थसूत्र

3) G. = गुरु
S. = शास्त्र
T. = तीर्थंकर (देव)

4) G. = गिरनार
S. = सिद्धक्षेत्र से
T. = [नेमिनाथ] तीर्थंकर मोक्ष गये।

5) G. = गारव रहित
S. = समता धारक
T. = तपस्वी होते है।

6) G. = गणधर रचित
S. = सिद्धांत ही
T. = तत्व है।

7) G. = गुणस्थान की
S. = श्रेणीयाँ चढ़ते हुए
T. = तीर्थंकर/केवली होते है।

8) G. = गुरु
S. = संसार से
T. = तारते है।

9) G. = गुरु उपदेश से
S. = सप्त कुव्यसन का
T. = त्याग होता है।

10) G. = ज्ञानी का
S. = सम्यग्दर्शन से
T. = तत्वार्थ श्रद्धान होता है।

11) G. = ज्ञानवान
S. = श्रद्धावान
T. = त्यागी

12) G. = गुण
S. = सहभावी होते है यह
T. = तत्वज्ञान हुआ।

13) G. = गुरु गौतम गणधर को
S. = समवशरण में संसार से
T. = तारणेवाले तीर्थंकर मिल गये।

14) G= ज्ञान
S= संयम
T= तप सहित मुनिराज होते हैं।

15) ????

आप स्वयं चिंतन करें

Activity No 27

जहाँ खिरती है भगवान की वाणी
जिसे सुन भव्य हो जाते है सभी प्राणी

करते हैं आज समवसरण की सैर
जहाँ सब भूल जाते हैं आपसी वैर

🍁Topic – समवसरण 🍁
🌸 1⃣ समवसरण की रचना कौन करते हैं ❓
🌼 🅰 कुबेरदेव

🌸2⃣ समवसरण में भगवान मूल स्वरूप मे किस दिशा में बिराजमान होते है ❓
🌼 🅰पूर्व दिशा

🌸 3⃣ समवसरण का वर्णन किस सूत्र में आता है ❓
🌼 🅰 उववाई सूत्र

🌸 4⃣ सर्वोत्कृष्ट पुण्य से मिले आश्चर्य कहाँ देखने को मिलते है ❓
🌼 🅰 समवसरण में

🌸 5⃣ समवसरण में उत्तर दिशा में कौनसा ध्वज होता है ❓
🌼 🅰 सिंह ध्वज

🌸 6⃣ समवसरण की रचना किसकी आज्ञा से होती है ❓
🌼 🅰 सौधर्म इन्द्र की आज्ञा से

🌸 7⃣ समवसरण में सुगंधित जल की वृष्टी कौन करता है ❓
🌼 🅰 मेघकुमार देव

🌸 8⃣ समवसरण में भगवान किस आसन में बैठते है ❓
🌼 🅰 पद्मासन

🌸 9⃣ समवसरण में पश्चिम दिशा में कौनसा ध्वज होता है ❓
🌼 🅰 गज ध्वज

🌸 🔟 इस अवसर्पिणी काल में कितनी बार समवसरण की रचना हुई ❓
🅰 🌼 64 बार

🌸1⃣1⃣ किस भगवान के 12 समवसरण हुए ❓
🌼 🅰 आदिनाथजी

🌸 1⃣2⃣ समवसरण का आकार कैसा ❓
🌼 🅰 गोल या चतुष्कोण

🌸 1⃣3⃣ समवसरण में देवच्छंद कहाँ होता है ❓
🌼 🅰 दूसरे गढ में ईशान कोण में

🌸 1⃣4⃣ समवसरण की प्रत्येक दिशा में कितने द्वार होते है ❓
🌼 🅰 3 द्वार

🌸 1⃣5⃣ समवसरण की कुल सिढियाँ कितनी ❓ 🌼 🅰 80000

🌸 1⃣6⃣ समवसरण में प्रथम गढ कौन बनाता है ❓🌼 🅰 भवनपति देव

🌸 1⃣7⃣ किसके प्रभाव से समवसरण में स्थान का अभाव नही होता ❓
🌼 🅰 तीर्थंकर के प्रभाव से

🌸 1⃣8⃣ समवसरण की चारो दिशा में कितने योजन प्रमाण ध्वज होते है ❓
🌼 🅰 1 योजन

🌸 1⃣9⃣ कितने देवी देवता हमेशा भगवान की सेवा में हाजिर रहते है ❓
🌼 🅰 1 करोड

🌸 2⃣0⃣ महावीर स्वामी के समय देवो ने कितनी बार समवसरण की रचना की ❓
🌼 🅰 8 बार

🌸 2⃣1⃣ समवसरण भूमि को काँटा – कंकर रहित कौनसे देव करते है ❓
🌼 🅰 वायुकुमार देव

🌸 2⃣2⃣ समवसरण में अग्नि कोण में गणधर के पीछे कौन बैठते हैं ❓
🌼 🅰 14 पूर्वी , अवधिज्ञानी , मन:पर्यवज्ञानी

🌸 2⃣3⃣ समवसरण में कितने भवो के बारे मे देखा व जाना जा सकता है ❓
🌼 🅰 3 भव ( भूत , भविष्य, वर्तमान)

🌸 2⃣4⃣ घूटनो तक अचित पुष्पों की वृष्टी कौन करता है ❓
🌼 🅰 अधिष्टायक देवी

🌸 2⃣5⃣ समवसरण में सिंहासन की रचना कौन करते हैं ❓
🌼 🅰 व्यंतर देव

🌸 2⃣6⃣ समवसरण पृथ्वी से कितने धनुष ऊँचा होता है ❓
🌼 🅰 5000 धनुष

🌸 2⃣7⃣ समवसरण में कितने वाद्य बजते है ❓
🌼 🅰 साढ़े 12 करोड़

🌸 2⃣8⃣ समवसरण हमेशा कहाँ रहता है ❓
🌼 🅰 महाविदेह क्षेत्र

🌸 2⃣9⃣ समवसरण में भगवान किस राग में देशना देते हैं ❓
🌼 🅰 मालकोश राग में

🌸 3⃣0⃣ वैर का विश्राम स्थान कौन सा ❓
समवसरण